रिव्यू- उड़ता पंजाब फिल्म नहीं बल्कि डॉक्यूमेंटरी

Review-Film Udta Punjab is not film but a Documentary
फिल्म – उड़ता पंजाब
स्टारकास्ट – शाहिद कपूर, आलिया भट्ट, करीना और दिलजीत
डायरेक्टर – अभिषेक चौबे
प्रोडूसर – बालाजी मोशन पिक्चर्स एंड फैंटम फिल्म्स

रेटिंग – 2.5 स्टार

loading...

 

पंकज पाण्डेय

 

आज साल की सबसे बड़ी कंट्रोवर्सियल फिल्म ‘उड़ता पंजाब’ रिलीज हो चुकी है। कैसी है फिल्म चलिए जानते हैं।

 

स्टोरी

 

फिल्म ‘उड़ता पंजाब’ ऐसे चार लोगों की कहानी है, जो एक-दूसरे से जुड़े हुए हैं। एक बंदे का नाम है टॉमी सिंह (शाहिद कपूर) जो कि एक रॉकस्टार सिंगर है और काफी फेमस भी है। दूसरी है एक बिहारी लड़की (आलिया भट्ट) जो कि बिहार से पंजाब आई है काम करने। तीसरे हैं पुलिस इंस्पेक्टर सरताज सिंह (दिलजीत दोसांझ) जो कि पंजाब में ड्रग्स की सप्लाई करवाने में काफी हाथ बटाते हैं क्योंकि इनकी ही मेहरबानी से बाहर से पंजाब में ड्रग्स आ पाता है। अंतिम हैं डॉक्टर प्रीत (करीना कपूर खान) जो कि ड्रग्स से पीड़ित लोगों का ईलाज करती हैं। चारों की कहानियां एक साथ चल रही होती हैं। एक दिन अचानक बिहारी लड़की को ड्रग्स का बहुत बड़ा पैकेट मिलता है और वह ज्यादा पैसे कमाने के चलते ड्रग्स को बेचने निकल पड़ती है लेकिन उसका ड्रग्स के धंधे में लिप्त एक गिरोह किडनैप कर लेता है। वह गिरोह उस बिहारी लड़की का रेप करता है बारी-बारी। वहीं दूसरी तरह सरताज सिंह का छोटा भाई रॉकस्टार टॉमी सिंह की तरह बनना चाहता है और वह भी टॉमी सिंह की तरह ड्रग्स लेना शुरू कर देता है और अपने भाई का ईलाज करवाने सरताज डॉक्टर प्रीत के पास जाता है। डॉक्टर प्रीत सरताज को बताती है कि पंजाब शहर में आज जो हालात  हैं उसकी सबसे बड़ी जिम्मेदार पंजाब पुलिस है क्योंकि पंजाब पुलिस ही हफ्ते लेकर ड्रग्स को शहर में आने देती है। इसके बाद सरताज और डॉक्टर प्रीत शहर को ड्रग्स मुक्त करने का फैसला करते हैं। क्या प्रीत और सरताज शहर को ड्रग्स मुक्त कर पाते हैं? टॉमी सिंह और  बिहारी लड़की का क्या होता है, यह जानने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी।

 

डायरेक्शन

डायरेक्शन की बात करें तो अभिषेक चौबे पूरी तरह फेल होते नजर आ रहे हैं क्योंकि वह जो फिल्म में दिखाना चाहते थे, वह नहीं दिखा पाए। फिल्म के डॉयलॉग काफी अच्छे हैं। एडिटिंग और सिनेमाटोग्राफी भी ठीक है लेकिन स्क्रीनप्ले फिल्म का औसत है। म्यूज़िक फिल्म को सपोर्ट करता है। फिल्म का क्लाईमेक्स फिल्म को उठाने के बजाय नीचे ला रहा है।

 

परफारमेंस

परफारमेंस की बात करें तो एक्टर शाहिद कपूर रॉकस्टार के रोल में फीके नजर आ रहे हैं। आलिया भट्ट ने फिल्म में काफी बेहतरीन अभिनय किया है। फिल्म में उनका अभिनय काफी नेचुरल लग रहा है। करीना कपूर खान ने भी फिल्म में बढ़िया और बैलेंस काम किया है। दिलजीत दोसांझ ने पुलिस ऑफिसर के किरदार में ठीक-ठाक काम किया है। फिल्म के बाकी कलाकारों ने भी औसत दर्जे का काम किया है। कुल मिलाकर कहा जा सकता है कि फिल्म ‘उड़ता पंजाब’ अच्छी फिल्म बनने के बजाय एक डॉक्यूमेंटरी बन गई है इसलिए अब आप पर है कि आप इस डॉक्यूमेंटरी को देखना चाहेंगे या नहीं। 

 

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *