रिव्यू – शाहरुख़-अनुष्का की शानदार केमिस्ट्री

Film Jab Harry Met Sejal shows the great chemistry between Shahrukh and Anushka
फिल्म – जब हैरी मेट सेजल
स्टारकास्ट – शाहरुख़ खान, अनुष्का शर्मा
डायरेक्टर – इम्तियाज़ अली
प्रोडूयसर – गौरी खान
रेटिंग – 3  स्टार

loading...

पंकज पाण्डेय

शाहरुख़ खान स्टारर रोमांटिक कॉमेडी फिल्म ‘जब हैरी मेट सेजल’ सिनेमाघरों में रिलीज हो चुकी है। कैसी है फिल्म चलिए जानते हैं।

स्टोरी

फिल्म ‘जब हैरी मेट सेजल’ की कहानी यूरोप से शुरू होती है। फिल्म की पूरी कहानी हैरी और सेजल के इर्द-गिर्द घूमती है। फिल्म में दिखाया गया है कि सेजल (अनुष्का शर्मा) जो कि इंडिया से अपनी पूरी फैमिली के साथ यूरोप घूमने आई थी और वो जब इंडिया लौट रही होती है तो उसे याद आता है कि उसने अपनी सगाई वाली रिंग होटल में ही छोड़ दी। सेजल अब अपने टूरिस्ट गाइड हैरी (शाहरुख़ खान) को बताती है कि उसने अपनी रिंग होटल में छोड़ दी है इसलिए अब वो दोबारा होटल जाएगी। होटल पहुंचने के बाद जब सेजल को रिंग नहीं मिलती है तो वो फैसला करती है कि अब पूरे अपने फैमिली हॉलिडे में जहां-जहां वो गयी थी, उन सभी जगहों पर जाकर वो अपनी रिंग को खोजेगी। हैरी सेजल को हर उस जगह पर ले जाता है, जहां वो उसे पहले भी ले चुका है लेकिन सेजल को रिंग  नहीं मिलती। रिंग ढूंढ़ते-ढूंढ़ते कब सेजल और हैरी को एक-दूसरे से प्यार हो जाता है, उन्हें पता ही नहीं चलता। हैरी सेजल को समझाता है कि वो वापस इंडिया चली जाए नहीं तो उसे प्यार हो जाएगा लेकिन सेजल हैरी को बताती है कि वो उस टाइप की लड़की नहीं है जो किसी टूरिस्ट गाइड के प्यार में पड़ जाए। अब क्या सेजल को उसकी खोई हुई रिंग मिलेगी और क्या सेजल और हैरी को एक-दूसरे से प्यार हो जाएगा। इन सभी सवालों का जवाब जानने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी।

डायरेक्शन

फिल्म ‘जब हैरी मेट सेजल’ को डायरेक्ट इम्तियाज़ अली ने किया है। अगर डायरेक्शन की बात करें तो इम्तियाज़ अली ने काफी निराश किया है जिसकी वजह हम फिल्म की कमजोर कहानी को कह सकते हैं। इसके अलावा फिल्म की कहानी काफी प्रेडिक्टेबल है। फिल्म देखते समय आप आसानी से पता लगा सकते हैं कि आगे क्या होगा। फिल्म की सिनेमेटोग्राफी, स्क्रीनप्ले और एडिटिंग कुछ भी तारीफ़ के काबिल नहीं है। फिल्म का फर्स्ट पार्ट कुछ हद तक मनोरंजन करता है लेकिन सेकंड पार्ट काफी बोरिंग और खींचा हुआ लगता है। फिल्म का म्यूजिक भी औसत दर्जे का है। फिल्म का एक भी गाना फिल्म देखने के बाद आपको याद नहीं रहेगा।

परफॉरमेंस

परफॉरमेंस की बात करें तो शाहरुख़ खान ने ठीक-ठाक काम किया है लेकिन उनसे काफी उम्मीदें थी। अनुष्का शर्मा का गुजराती एक्सेंट तारीफ़ के काबिल है और उनकी परफॉरमेंस भी अच्छी है। फिल्म के अन्य कलाकारों की भी परफॉरमेंस ठीक ही है।

क्यों देखें

फिल्म ‘जब हैरी मेट सेजल’ को देखने की सबसे खास वजह है शाहरुख़ खान और अनुष्का शर्मा के बीच की शानदार केमिस्ट्री जो कि फिल्म में बखूबी नजर आ रही है। इसके अलावा अगर आप शाहरुख़ खान के फैन हैं तो आपको यह फिल्म जरूर देखनी चाहिए।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *