रिव्यू – मास एंटरटेनर फिल्म है ‘टॉयलेट एक प्रेम कथा’

Film Toilet Ek Prem Katha is mass entertainer Film
फिल्म – टॉयलेट एक प्रेम कथा

स्टार कास्ट – अक्षय कुमार, भूमि पेडनेकर

डायरेक्टर –  नारायण सिंह

प्रोडूयसर – शीतल भाटिया, प्रेरणा अरोरा, नीरज पाण्डेय

रेटिंग – 3 स्टार

loading...

पंकज पाण्डेय

अक्षय कुमार की मच अवेटेड फिल्म ‘टॉयलेट एक प्रेम कथा’ आज सिनेमाघरों में रिलीज हो चुकी है। कैसी है फिल्म चलिए जानते हैं।

स्टोरी

फिल्म ‘टॉयलेट एक प्रेम कथा’ मथुरा स्थित नंदगांव में रहने वाले 36 वर्षीय और बारहवीं पास केशव (अक्षय कुमार) की कहानी है। केशव की कुंडली में मांगलिक दोष है इसलिए उसकी शादी नहीं हो पा रही है। इसी बीच एक दिन ट्रेन में केशव की मुलाकात पढ़ी लिखी लड़की जया (भूमि पेडनेकर) से होती है। पहली ही मुलाकात में केशव को जया से प्यार हो जाता है। जल्द ही केशव और जया शादी कर लेते हैं लेकिन कहानी में ट्विस्ट तब आता है, जब जया को पता चलता है कि केशव के घर में टॉयलेट नहीं है। घर में टॉयलेट ना पाकर जया केशव को कहती है कि जब तक घर में या फिर गांव में टॉयलेट नहीं बनेगा तब तक वो केशव के घर में नहीं रहेगी। फिर किस तरह केशव अपने गांव में बड़ी मुसीबत से टॉयलेट बनवाता है, यही फिल्म में काफी हास्य ढंग से दिखाया गया है।

डायरेक्शन

फिल्म ‘टॉयलेट एक प्रेम कथा’ को नारायण सिंह ने डायरेक्ट किया है। अगर डायरेक्शन की बात करें तो नारायण सिंह की तारीफ़ करनी होगी क्योंकि उन्होंने इतने सीरियस मुद्दे को काफी हास्य ढंग से फिल्म में पेश किया है। फिल्म का फर्स्ट हाफ ठीक है लेकिन सेकंड हाफ काफी लंबा है जिसे छोटा किया जा सकता था। फिल्म की सिनेमेटोग्राफी, स्क्रीनप्ले और डायलॉग सभी अच्छे हैं बस फिल्म का म्यूजिक निराश करता है। सिर्फ ‘हंस मत पगली’ ही एक ऐसा सांग है जिसे सुनकर अच्छा लगता है।

परफॉरमेंस

परफॉरमेंस की बात करें तो अक्षय कुमार ने काफी बढ़िया काम किया है। अक्षय अपने किरदार में जंच रहे हैं। भूमि पेडनेकर का भी अभिनय काफी अच्छा है। उनके अभिनय को देखकर बिलकुल भी नहीं लगता कि यह उनकी दूसरी फिल्म है। सुधीर पाण्डेय और दिव्येंदु शर्मा का भी काम संतोषजनक है। फिल्म के बाकी स्टारकास्ट का भी अभिनय ठीक ही है।

क्यों देखें

फिल्म ‘टॉयलेट एक प्रेम कथा’ एक सीरियस मुद्दे पर बनी मनोरंजक फिल्म है। फिल्म को जिस तरह हास्य तरीके से पेश किया गया है वो तारीफ़ के काबिल है। फिल्म ‘टॉयलेट एक प्रेम कथा’ एक मास एंटरटेनर फिल्म है जिसे आप एक बार तो देख ही सकते हैं।   

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *