रिव्यू – नक्सलग्रस्त इलाकों की चुनावी प्रक्रिया को दर्शाती है ‘न्यूटन’

Film Newton shows the election process of Naxalites area
फिल्म – न्यूटन
स्टारकास्ट – राजकुमार राव, पंकज त्रिपाठी, अंजलि पाटिल
डायरेक्टर – अमित मसूरकर
प्रोडूयसर – मनीष मुंद्रा
रेटिंग – 3 स्टार
 
 
पंकज पाण्डेय
 
 
राजकुमार राव स्टारर फिल्म ‘न्यूटन’ आज सिनेमाघरों में रिलीज हो चुकी है। कैसी है फिल्म चलिए जानते हैं।
 
 
स्टोरी
फिल्म की कहानी नूतन कुमार उर्फ़ न्यूटन (राजकुमार राव) की है। न्यूटन सरकारी विभाग में एक क्लर्क के पद पर कार्यरत हैं। एक दिन न्यूटन को नक्सलग्रस्त इलाके में वोटिंग कराने की जिम्मेदारी सौपी जाती है। जहां आज तक कभी वोटिंग नहीं हुई है। इस मिशन पर न्यूटन की टीम में लोकनाथ (रघुबीर यादव) और मल्को (अंजलि पाटिल) भी होते हैं। इस वोटिंग वाले मिशन पर न्यूटन की मुलाकात आर्मी ऑफिसर आत्मा सिंह (पंकज त्रिपाठी ) से होती है। अब न्यूटन आत्मा सिंह की मदद से क्या उस नक्सलग्रस्त इलाके में वोटिंग करा पाएगा। इस सवाल का जवाब आपको फिल्म देखने के बाद पता चलेगा।
 
 
डायरेक्शन
 
फिल्म को डायरेक्ट अमित मसूरकर ने किया है। अगर उनके डायरेक्शन की बात करें तो उनका डायरेक्शन बढ़िया है। डायरेक्टर साहब ने जिस तरह इतने सीरियस टॉपिक को इतने मजेदार ढंग से पेश किया है वो काबिल के तारीफ़ है। फिल्म की स्टोरी काफी अच्छी है और खासतौर पर फिल्म के डायलॉग तो काफी मजेदार हैं। फिल्म का स्क्रीनप्ले और सिनेमेटोग्राफी ठीक है और फिल्म की एडटिंग भी अच्छी है। फिल्म का बैकग्राउंड म्यूजिक औसत है।
 
 
परफॉरमेंस
 
परफॉरमेंस की बात करें तो राजकुमार राव ने काफी बढ़िया काम किया है, उन्होंने ने अपने किरदार के साथ इंसाफ किया है। पंकज त्रिपाठी ने भी कमाल का अभिनय किया है। अंजलि पाटिल ने भी अपने किरदार को अच्छी तरह निभाया है।
 
 
क्यों देखें
 
यह फिल्म आप सिर्फ और सिर्फ राजकुमार राव के शानदार अभिनय को देखने के लिए देख सकते हैं।
 
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *