मैं सख्त पिता नहीं हूं – संजय दत्त

I am not strict father says Sanjay Dutt
लगभग तीन साल बाद बॉलीवुड के बाबा उर्फ़ अभिनेता संजय दत्त फिर एक बार सिल्वर स्क्रीन पर वापसी करने जा रहे हैं। उनकी ये वापसी फिल्म ‘भूमि’ से हो रही है। इस फिल्म में संजय दत्त एक पिता के किरदार में नजर आएंगे और यह फिल्म 22 सितंबर को सिनेमाघरों में रिलीज होगी। पिछले दिनों इसी फिल्म के सिलसिले में हमारी मुलाकात संजय दत्त से बांद्रा स्थित उनके घर पर हुई। जहां फिल्म के साथ ही हमने संजय दत्त से उनकी निजी जिंदगी से जुड़ी कई बातें कीं, पेश है उसी बातचीत के मुख्य अंश।
 
 
पंकज पाण्डेय
 
 
फिल्म ‘भूमि’ करने के लिए आपने हां क्यों कहा ?
 
यह फिल्म करने की सबसे बड़ी वजह थी फिल्म की स्क्रिप्ट जो मुझे काफी पसंद आई। जब मैंने इस फिल्म की स्क्रिप्ट सुनी, उस वक्त ही मैंने फैसला कर लिया था कि मैं यह फिल्म करूंगा। इस फिल्म में एक पिता और बेटी के बीच किस तरह का रिश्ता होता है, वही दिखाया गया है। फिल्म ‘भूमि’ एक छोटे से शहर में रहने वाली एक छोटी सी फैमिली की कहानी है। एक रोज उस फैमिली में एक हादसा होता है और फिर किस तरह वो हादसा फैमिली को तबाह कर देता है। यही कहानी फिल्म में बताई गई हैइसके अलावा मैं बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ पर विश्वास करता हूं इसलिए भी मैंने यह फिल्म करने का फैसला किया।
 
 
आपने फिल्म ‘भूमि’ से ही क्यों कमबैक करने का फैसला किया ? आपको नहीं लगता कि मुन्ना भाई सीरीज की फ़िल्म से आपका कमबैक परफेक्ट होता ?
 
ऐसा नहीं है कि मैंने ‘भूमि’ से कमबैक करने का कोई जानबूझकर फैसला किया था बल्कि मैं कहूंगा कि मैंने जब फिल्म की स्क्रिप्ट सुनना शुरू की, उन सभी फिल्मों में मुझे ‘भूमि’ की कहानी ने काफी अट्रैक्ट किया था लेकिन आपने सही कहा और मुझे भी लगता है कि मुन्ना भाई सीरीज की फिल्म मेरे कमबैक के लिए परफेक्ट होती लेकिन मैं ‘भूमि’ से भी संतुष्ट हूं।
 
 
फिल्म के डायरेक्टर ओमंग कुमार के साथ काम करने का अनुभव कैसा रहा ?
 
ओमंग कुमार एक बहुत ही टैलेंटेड डायरेक्टर हैं और बहुत अच्छे इंसान भी हैं। वो अच्छी तरह जानते हैं कि उन्हें अपने एक्टर्स से क्या चाहिए और वो अपने एक्टर्स से अपने मन मुताबिक सीन करवा भी लेते हैं। उनके साथ काम करने का अनुभव भी बढ़िया रहा और मैं उनके साथ एक और फिल्म कर रहा हूं जिसका नाम ‘मलंग’ है लेकिन उस फिल्म को ओमंग प्रोडूयस कर रहे हैं।
 
 
रियल लाइफ में आप किस तरह के पिता हैं, क्या आप अपने बच्चों के साथ एक दोस्त की तरह रहते हैं?
 
सच बोलूं तो मैं एक सख्त पिता नहीं हूं लेकिन मैं अपने बच्चों से यही चाहता हूं कि वो लोग मेरी बात सुनें, घर पर टाइम पर आएं और दोस्तों के साथ ज्यादा ना घूमें, ये सब मुझे पसंद नहीं है। रही बात बच्चों के साथ दोस्त जैसे रिश्ते की तो मैं यही कहूंगा कि बच्चा हमेशा बच्चा ही रहता है। अगर आप अपने बच्चे के साथ दोस्तों की तरह रहेंगे तो बच्चा हाथ से निकल जाएगा। इसलिए उनके साथ माता-पिता की तरह ही रहना चाहिए
 
 
आप आने वाले दिनों में कौन सी फ़िल्में कर रहे हैं ?
 
‘भूमि’ के बाद मैं कई फ़िल्में कर रहा हूं जिसमें ‘साहेब बीवी और गैंगस्टर 3’, ‘टोरबाज़’ और ‘मलंग’ शामिल हैं। इसके अलावा मैं मुन्ना भाई की अगली सीरीज और अजय देवगन के प्रोडक्शन की अगली फिल्म भी कर रहा हूं, जिसका टाइटल अभी तक फाइनल नहीं हुआ है
 
 
आपकी लाइफ काफी इंटरेस्टिंग रही है और क्या आप कभी अपनी खुद की ऑटोबायोग्राफी लिखेंगे ?
 
मैं हमेशा से अपनी खुद की ऑटोबायोग्राफी लिखना चाहता हूं लेकिन पहले कोई पब्लिशर मुझे एप्रोच तो करे। मैं तो इंतजार कर रहा हूं कि कोई मुझे एप्रोच करे और मैं अपनी खुद की ऑटोबायोग्राफी लिखूं।
 
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *