मैं एक्ट्रेस नहीं होती तो हाउसवाइफ होती – कृति खरबंदा

If I was not an actress then I would have been a house wife says Kriti Kharbanda

एक्ट्रेस कृति खरबंदा इन दिनों अपनी अगली फिल्म ‘शादी में जरूर आना’ के प्रमोशन में व्यस्त हैं। फिल्म ‘शादी में जरूर आना’ आज सिनेमाघरों में रिलीज हो चुकी है। हाल ही में फिल्म से जुड़े एक प्रमोशनल इंटरव्यू में हमने कृति से उनकी फिल्म के बारे में काफी बातचीत की। पेश हैं उस बातचीत के मुख्य अंश।

loading...

 

पंकज पाण्डेय
 
 

फिल्म में अपने किरदार के बारे में बताएं ?

फिल्म में मेरे किरदार का नाम आरती शुक्ला है जो कि इलाहाबाद में पढाई कर रही है। वो एक ब्राइट स्टूडेंट है और ट्रेडिशनल शादी में विश्वास रखती है। आरती को इम्प्रेस करना काफी आसान है, उसको आप दो प्यारी बातें बोल दो वो इम्प्रेस हो जाएगी। उसके लिए बंगला, गाड़ी मायने नहीं रखता, उसे बस एक ऐसे इंसान की तलाश है जो उससे प्यार करता हो। उसे यह सब क्वालिटी सतेंद्र में दिखाई पड़ती है। सतेंद्र का किरदार राजकुमार राव निभा रहे हैं।

 

फिल्म शादी में जरूर आना की कहानी क्या है ?

फिल्म में आरती और सतेंद्र के परिवार की कहानी है। इंडिया में शादी करना काफी आसान है लेकिन उसे निभाना काफी मुश्किल, बस यही सब हमारी फिल्म में फोकस किया गया है। एक आदमी और औरत के शादी के बंधन में बंधने के पहले और बाद में किस तरह की परेशानियां आती हैं। उन्हीं परेशानियों को काफी मजाकिया तरीके से फिल्म में दिखाया गया है।


कहा जा रहा है कि फिल्म ‘शादी में जरूर आना’ की स्टोरी काफी हद तक फिल्म ‘बद्रीनाथ की दुल्हनियां’ से मिलती है, क्या सच में?

जहां तक मुझे पता है, हमारी फिल्म की कहानी ‘बद्रीनाथ की दुल्हनियां’ से नहीं मिलती लेकिन अगर लोग तुलना कर रहे हैं तो यह अच्छी बात है। मैं भगवान से प्रार्थना करूंगी कि हमारी फिल्म भी ‘बद्रीनाथ की दुल्हनियां’ की तरह बॉक्स ऑफिस पर सौ करोड़ का बिजनेस करे। मैंने ‘बद्रीनाथ की दुल्हनियां’ फिल्म देखी है, दोनों फिल्मों में काफी डिफरेंस है। इसके अलावा हमारी फिल्म की शूटिंग ‘बद्रीनाथ की दुल्हनियां’ रिलीज होने के बाद शुरू हुई थी, तो ऐसे में कहानी मिलने का सवाल ही नहीं उठता है

 

शादी जैसे पवित्र बंधन को आप कितना इम्पोर्टेंस देती हैं ?

मेरी लाइफ में शादी की इम्पोर्टेंस नहीं है क्योंकि मैं शादी के बजाय रिलेशनशिप को इम्पोर्टेंस देती हूं। मेरी अपनी लाइफ में आज तक जो एक-दो रिलेशन रहे हैं उन्हें मैंने पूरी ईमानदारी से निभाने की कोशिश की लेकिन वो रिश्ते नहीं चले। इसका यह मतलब नहीं हुआ कि मेरा रिश्तों पर से भरोसा उठ गया हो, मैं आज भी रिश्तों पर भरोसा करती हूं। मैंने अपने मां-बाप का रिश्ता देखा है। आज उनकी शादी को पूरे 28 साल हो गए हैं, उन दोनों के बीच की रिलेशनशिप काफी स्ट्रांग है।

 

आज कल तलाक के मामले काफी बढ़ गए हैं, लोगों की शादी ज्यादा नहीं चल पा रही है, इस बारे में क्या कहेंगी ?

इसका कारण है, अब लोग अपनी जिंदगी को सीरियसली ले रहे हैं पहले लोग नहीं लेते थे। एक वक्त था, जब तलाक के मामले ज्यादा सामने नहीं आते थे क्योंकि लोग सह लेते थे और कैसे भी करके अपनी जिंदगी गुजार लेते थे। महिलाओं में हिम्मत नहीं थी कि वो बोल सकें लेकिन अब महिलाएं बोलने लगी हैं। पहले लोगों को मां-बाप का सपोर्ट नहीं मिलता था लेकिन अब मिलने लगा है इसलिए भी तलाक के मामले बढ़े हैं। मेरे खयाल से अगर आप किसी रिश्ते में खुश नहीं हैं तो आपको उस रिश्ते को छोड़ देना चाहिए।

 

अगर आप एक्ट्रेस नहीं होतीं तो क्या होतीं ?

अगर मैं एक्ट्रेस नहीं होती तो मैं हाउसवाइफ होती, यही वजह है कि फिल्म में जो मेरा किरदार है मैं उससे खुद को कनेक्ट कर पाई हूं। मैं जब पंद्रह साल की थी उस वक्त मुझसे पूछा गया था कि मैं बड़ी होकर क्या बनना चाहती हूं तो मैंने कहा था कि मुझे शादी करनी है। मैंने कभी अपने करियर के बारे में नहीं सोचा। अगर मैं एक्ट्रेस नहीं होती तो मेरी आज शादी हो चुकी होती और मेरे दो या तीन बच्चे भी होते। 
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *