बोल्ड सीन्स करने में काफी मुश्किल होती है – ज़रीन खान

It's very difficult to do Bold scenes says Zareen Khan
एक्ट्रेस ज़रीन खान इन दिनों फिल्म ‘अक्सर 2’ के प्रमोशन में व्यस्त हैं। फिल्म ‘अक्सर 2’ साल 2006 में आई फिल्म ‘अक्सर’ की सीक्वल है। यह फिल्म आज सिनेमाघरों में रिलीज होगी। हाल ही में हमने ज़रीन खान से उनकी फिल्म को लेकर एक्सक्लूसिव बातचीत की। पेश हैं उस बातचीत के कुछ खास अंश।
 
 
पंकज पाण्डेय
 
 
‘अक्सर 2’ और साल 2006 में आई फिल्म ‘अक्सर’ में क्या समानता है ?
 
हमारी फिल्म और ‘अक्सर’ में किसी भी तरह की समानता नहीं है। हमारी फिल्म पूरी तरह एक नयी कहानी पर बनी है। हमारी फिल्म का पुरानी फिल्म ‘अक्सर’ से कुछ भी लेना-देना नहीं है। बस यही समानता है कि वो फिल्म एक सस्पेंस थ्रिलर फिल्म थी और हमारी फिल्म भी एक सस्पेंस थ्रिलर फिल्म है। हमारी फिल्म शीना नाम की एक लड़की की कहानी है जिसे लगता है कि अगर उसे एक जॉब मिल जाएगी तो उसकी लाइफ की सारी परेशानी दूर हो जाएगी लेकिन जॉब मिलने के बाद ऐसा नहीं होता बल्कि वो और भी परेशानियों से घिर जाती है। फिर किस तरह शीना उन परेशानियों से बाहर निकलती है यही फिल्म में दिखाया गया है।
 
 
आपने फिल्म ‘हेट स्टोरी 3’ की थी और अब ‘अक्सर 2’, दोनों ही फिल्मों को आपकी फिल्म कहा जाता है, इस बारे में क्या कहेंगी ?
 
अच्छा लगता है और बहुत अच्छा फील भी होता है। मुझे कभी नहीं लगा था कि मैं इतने कम समय में इतने आगे बढ़ जाऊंगी कि लोग फिल्म में हीरो होने के बजाय फिल्मों को मेरी फिल्म कहेंगे। मैं इस इंडस्ट्री से जुड़ी हुई नहीं हूं और एक आउटसाइडर होते हुए भी इतनी सफलता मिलना, मेरे लिए काफी बड़ी बात है। मुझे ख़ुशी है कि आज लोग मुझे और मेरी फिल्म को पसंद कर रहे हैं।
 
 
आपने अचानक बोल्ड फ़िल्में करने का फैसला क्यों किया ?
 
बोल्ड फ़िल्में करने का मैंने कोई सोच समझकर फैसला नहीं किया था। जब मुझे ‘हेट स्टोरी 3’ ऑफर हुई तो फिल्म करने से पहले मैंने काफी सोचा क्योंकि मुझे खुद को पता नहीं था कि मैं यह फिल्म कर पाऊंगी या नहीं। मेरे फैंस मुझे पसंद करेंगे या नहीं और फिर मैंने सोचा कि चलो करके देखते हैं और अच्छी बात यह रही कि लोगों ने मुझे और मेरी फिल्म को काफी पसंद किया।
 
 
पिछले दिनों आपके बोल्ड सीन को लेकर काफी चर्चा थी, आपको नहीं लगता कि आप हमेशा मीडिया का सॉफ्ट टारगेट बनती हैं ?
 
हां, मुझे कभी-कभी लगता है लेकिन ऐसा क्यों मेरे साथ होता है मुझे समझ नहीं आता। मीडिया ने मुझे शुरुआत से अपना टारगेट बनाया है। जब मेरी पहली फिल्म ‘वीर’ रिलीज हुई थी तो उस वक्त मीडिया में कहा जाता था कि मैं काफी मोटी हूं लेकिन मैं आपको बता दूं कि उस फिल्म के मेकर्स ने मुझे मोटे होने को कहा था क्योंकि वो रोल की डिमांड थी। उसके बाद मेरी स्टाइलिंग और ड्रेसिंग सेंस को लेकर मीडिया बात करने लगी। यह ख़त्म हुआ तो मेरे बोल्ड सीन्स को लेकर मीडिया को प्रॉब्लम होने लगी। मैं सभी से यही पूछना चाहती हूं कि ऐसा मैंने क्या कर दिया है जो किसी स्थापित एक्ट्रेस या कोई बड़ी एक्ट्रेस नहीं करती। फर्क सिर्फ इतना है कि बड़ी एक्ट्रेस या स्थापित एक्ट्रेस बोल्ड सीन बड़ी फिल्मों में या बिग बैनर की फिल्मों में करती हैं।
 

बोल्ड सीन फिल्माते वक्त किस तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है ?

loading...
इस तरह के सीन करने में काफी मुश्किल होती है। लोगों को तो बस देखने में अच्छा लगता है और बड़ी-बड़ी बात करने में मजा आता है। एक लड़की होने के नाते हमें इस तरह के सीन करने से पहले काफी सावधानी बरतनी पड़ती है। हमें इस बात का ध्यान रखना होता है कि कही आपकी बॉडी का कोई ऐसा एंगल कैमरे में कैच ना हो जाए जो आप नहीं चाहतींआपको ऐसे इंसान के साथ सीन करने होते हैं जिसके साथ आपकी कोई फीलिंग अटैच नहीं है। इसके अलावा आपको सीन में काफी कन्विंसिंग भी लगना होता है ताकि आप सीन में फेक ना लगें। उस वक्त हमारे दिमाग में दस हजार चीजें चल रही होती हैं इसलिए इस तरह के सीन करना काफी मुश्किल होता है।
 
 

 

 
 
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *