‘माय फ्रेंड्स दुल्हनियां’ को लेकर प्रेशर नहीं है – ओ पी राय

There is no pressure on me about the success of my friends dulhania says o p rai
फिल्म मेकर ओ पी राय इन दिनों अपनी आने वाली अगली फिल्म ‘माय फ्रेंड्स दुल्हनियां’ के प्रमोशन में व्यस्त हैं। फिल्म ‘माय फ्रेंड्स दुल्हनियां’ को प्रोडूयस आलोक राय ने किया है। यह फिल्म 15 दिसंबर को सिनेमाघरों में रिलीज होगी। पिछले दिनों हमने ओ पी राय से मुलाकात की और उनसे उनकी फिल्म को लेकर काफी बातचीत की। पेश हैं उस बातचीत के प्रमुख अंश।


फिल्म का टाइटल फाइनल करने में किस तरह की परेशानी हुई ?
टाइटल को लेकर काफी परेशानी हुई थी। जब हमने फिल्म शुरू की थी उस वक्त हम फिल्म का टाइटल ‘लव इन कश्मीर’ रखना चाहते थे लेकिन हमें वो टाइटल नहीं मिला। उसके बाद हमने सोचा कि अब फिल्म का नाम ‘एक शादी इन कश्मीर’ रखते हैं लेकिन वो टाइटल भी हमें नहीं मिला। फिर हमारे खयाल में आया कि हमारी फिल्म की कहानी दोस्तों की है इसलिए फिर हमने ‘माय फ्रेंड्स दुल्हनियां’ का टाइटल फाइनल कर लिया।


छोटी फिल्मों को डिस्ट्रीब्यूट करना कितना मुश्किल होता है ?
काफी मुश्किल होता है लेकिन मुझे फिल्म को डिस्ट्रीब्यूट करने में कोई परेशानी नहीं हुई क्योंकि मैं खुद एक डिस्ट्रीब्यूटर भी हूं। मेरा नेटवर्क काफी बड़ा है इसलिए मुझे फिल्म की अच्छी रिलीज को लेकर कोई चिंता नहीं है लेकिन आपने सच कहा कि अक्सर छोटी फिल्मों को इस तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। 
 

आप एक इंजीनियर हैं तो ऐसे में फिल्म बनाने में कितनी परेशानियां आई ?

 
देखिए, मेरा मानना है कि जब मैं चार साल इंजीनियर की पढ़ाई पूरी ईमानदारी के साथ कर सकता हूं तो फिर मैं जीवन में कुछ भी कर सकता हूं। मैं एक टेक्निकल इंजीनियर हूं और फ़िल्में बनाने के लिए आपको टेक्निकल ज्ञान होना चाहिए जो कि मुझे अच्छी तरह है। सभी को लगता है कि फिल्म को शूट करना काफी आसान होता है लेकिन ऐसा नहीं है क्योंकि फिल्म को शूट करना काफी कठिन होता है। फिल्म बनाना एक टेक्निकल प्रोसेस होता है जिसे काफी बारीकी से करना पड़ता है। फिल्म बनाने के प्रोसेस में हर जगह क्रेटिविटी भी होती है और मेरे अंदर काफी क्रेटिविटी भी है इसलिए मेरे लिए फिल्म बनाना कठिन नहीं था। 

loading...

फिल्म की शूटिंग कश्मीर में भी हुई है ऐसे में कश्मीर में फिल्म शूट करते वक्त किसी तरह की समस्या आई ?

समस्या आई थीं क्योंकि कश्मीर में तनाव पूर्ण स्थितियां होती हैं और आज कल निर्माता कश्मीर में फिल्म शूट करने से बचते हैं। वहां आतंकवाद ज्यादा है इसलिए भी कश्मीर में फिल्म शूट करना आसान नहीं होता। हमें फिल्म शूट करने में इसलिए समस्या नहीं हुई क्योंकि फिल्म के हीरो मुदासिर जफ़र के अंकल पुलिस में हैं तो जब हमारी फिल्म शूट हो रही थी तो उस वक्त उन्होंने हमें सुरक्षा दी थी। फिल्म की शूटिंग कश्मीर के अलावा मुंबई और दिल्ली में भी हुई है।

बॉक्स ऑफिस पर फिल्म की परफॉरमेंस को लेकर कितना प्रेशर है ?

ईमानदारी से कहूं तो मुझे कोई प्रेशर नहीं है।  मैंने एक फिल्म बनाई है और उसे रिलीज कर रहा हूं। मैं किसी से पंगा नहीं ले रहा हूं और ना ही लेना है। मैं अपनी फिल्म को लेकर लाइन में खड़ा हूं और दूसरे लोग भी अपनी फिल्म लेकर लाइन में खड़े हैं। अब ऑडियंस को मेरी फिल्म पसंद आएगी या नहीं आएगी यह तो आने वाला वक्त बताएगा।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *