रिव्यू – रिश्तों के ताने-बाने को दिखाती है ‘3 स्टोरीज’

Review 3 Storeys
फिल्म – 3 स्टोरीज

स्टारकास्ट – पुलकित सम्राट, रेणुका  शहाणे, रिचा चड्डा

डायरेक्टर – अर्जुन मुखर्जी

प्रोडूयसर – फरहान अख्तर, रितेश सिधवानी, प्रिया श्रीधरन

रेटिंग – 3 स्टार

loading...

पंकज पाण्डेय
 
अर्जुन मुखर्जी की थ्रिलर ड्रामा फिल्म ‘3 स्टोरीज’ आज सिनेमाघरों में रिलीज हो चुकी है। फिल्म में डायरेक्टर ने तीन कहानियों को दिखाया है जो कि एक -दूसरे से जुड़ी हुई हैं। चलिए जानते हैं कैसी है फिल्म ?

स्टोरी

फिल्म ‘3 स्टोरीज’ की पूरी कहानी मुंबई स्थित एक 3 मंजिल के अपार्टमेंट के इर्द-गिर्द घूमती है। फिल्म की पहली कहानी एंग्लो इंडियन विधवा फ्लोरी मेनडोन्का (रेणुका शहाणे) की है। वो अपने एक छोटे फ्लैट की ज्यादा कीमत मांग रही है इसलिए उसे कोई खरीददार नहीं मिल रहा है लेकिन जल्द ही एक दिन उसे एक खरीददार मिल भी जाता है और खरीददार का नाम विलास नाईक (पुलकित सम्राट) है। फिल्म की दूसरी कहानी वर्षा (मासुमेह मखीजा) की है जो अपने पति से परेशान है क्योंकि वो रोजाना दारु पीकर उसे पीटता है। वर्षा की लाइफ में ट्विस्ट तब आता है, जब उसकी मुलाकात उसके पूर्व प्रेमी शंकर वर्मा (शरमन जोशी) से होती है। तीसरी कहानी एक मुस्लिम लड़के सोहेल (अंकित राठी) और एक हिंदु लड़की मालिनी (आएशा अहमद) की है जो एक-दूसरे से प्यार करते हैं लेकिन उन दोनों के घर वाले उनके रिश्ते से खुश नहीं हैं।

डायरेक्शन

फिल्म को डायरेक्ट अर्जुन मुख़र्जी ने किया है जिनकी यह पहली फिल्म है। अर्जुन की तारीफ़ करनी होगी क्योंकि उन्होंने अपनी पहली फिल्म के तौर पर काफी कठिन विषय अपने हाथ में लिया लेकिन उन्होंने कमाल का डायरेक्शन भी किया है। फिल्म की सबसे ख़ास बात यह है कि तीनों कहानियां एक दूसरे से जुडी हुई हैं और तीनों कहानियां आपको अंत तक बांधे रखती हैं। फिल्म का स्क्रीनप्ले ठीक है और सिनेमेटोग्राफी भी अच्छी है। फिल्म के कुछ डायलॉग भी अच्छे बन पड़े हैं।

परफॉरमेंस

परफॉरमेंस की बात करें तो रेणुका शहाणे ने काफी बढ़िया अभिनय किया है। मासुमेह मखीजा और शरमन जोशी ने अच्छी परफॉरमेंस दी है। अंकित राठी और आएशा अहमद का भी काम ठीक ही है। हिमांशु मलिक का काम बेहतरीन है। फिल्म के बाकी कलाकारों ने भी शानदार अभिनय किया है।

क्यों देखें

फिल्म ‘3 स्टोरीज’ में तीन कहानियां हैं और तीनों ही कहानियां काफी रियल लगती हैं और तीनों ही कहानियां एक-दूसरे से जुडी हुई हैं। तीनों ही कहानियों में रिश्तों के ताने-बाने को दिखाया गया है और फिल्म के जरिए यह भी दिखाया गया है कि हर एक चेहरे के पीछे एक कहानी छुपी हुई है इसलिए आप इस वीकेंड पर यह फिल्म देखने जा सकते हैं। 
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *