रिव्यू – मुश्किल है प्यार की सड़क बताती है ‘धड़क’

Hindi Review of Film Dhadak
फिल्म – धड़क
स्टारकास्ट – ईशान खट्टर, जान्हवी कपूर
डायरेक्टर – शशांक खैतान
प्रोडूयसर – ज़ी स्टूडियो, धर्मा प्रोडक्शन
रेटिंग – 3 स्टार
 
 
 
पंकज पाण्डेय
 
 
ईशान खट्टर और जान्हवी कपूर स्टारर फिल्म ‘धड़क’ आज सिनेमाघरों में रिलीज हो चुकी है। कैसी है फिल्म चलिए जानते हैं।
 
 
 
स्टोरी
 
फिल्म ‘धड़क’ की कहानी उदयपुर में रहने वाले दबंग नेता रतन सिंह (आशुतोष राणा) की है। जिनकी बेटी पार्थवी सिंह (जान्हवी कपूर) को उसके साथ ही पढ़ने वाले लड़के मधुकर बागला (ईशान खट्टर) से प्यार हो जाता है। एक दिन रतन सिंह अपनी बेटी पार्थवी और मधुकर को रंगे हाथ पकड़ लेता है और मधुकर को पुलिस स्टेशन में बंद करवा देता है। इसी बीच पार्थवी को पता चलता है कि उसके पिता जल्द ही मधुकर को मरवा देंगे तो वो मधुकर को लेकर मुंबई भाग जाती है। मुंबई पहुंचने के बाद मधुकर पार्थवी को लेकर अपने मामा के घर जाता है जो कि नागपुर में रहते हैं। मधुकर के मामा मधुकर को कोलकाता भेज देते हैं और वहां नए सिरे से जिंदगी जीने की सलाह देते हैं। सब कुछ ठीक-ठाक चल रहा होता है लेकिन इसी बीच रतन सिंह को पता चल जाता  है कि मधुकर और पार्थवी कोलकाता में रह रहे हैं। अब रतन सिंह क्या करेगा ? रतन सिंह को कैसे पता चलता है कि मधुकर और पार्थवी कोलकाता में हैं ? अब क्या रतन सिंह मधुकर और पार्थवी को जान से मार डालेगा ? इन सभी सवालों का जवाब आपको फिल्म देखने के बाद पता चलेगा।
 
 
 
डायरेक्शन
 
फिल्म ‘धड़क’ मराठी फिल्म ‘सैराट’ की हिंदी रीमेक है लेकिन फिल्म को डायरेक्टर शशांक खैतान ने पूरी ‘सैराट’ की तरह नहीं बनाया है बल्कि फिल्म में काफी बदलाव किए हैं। अगर डायरेक्शन की बात करें तो शशांक का डायरेक्शन बढ़िया है। फिल्म का स्क्रीनप्ले ठीक है और सिनेमेटोग्राफी बढ़िया है। फिल्म का म्यूजिक औसत दर्जे का है सिर्फ झिंगाट सांग ही अच्छा बन पाया है।
 
 
 
परफॉरमेंस
 
अगर परफॉरमेंस की बात करें तो जान्हवी कपूर ने दमदार अभिनय किया है। फिल्म के जरिए उन्होंने बता दिया है कि वो श्रीदेवी की बेटी हैं। ईशान खट्टर ने भी बढ़िया काम किया है। ईशान के अंदर उनके भाई शाहिद कपूर की झलक साफतौर पर दिखाई पड़ती है। हमेशा की तरह आशुतोष राणा का अभिनय लाजवाब है। अंकित बिष्ट और श्रीधर वत्सर ने बढ़िया काम किया है।
 
 
 
क्यों देखें
 
फिल्म को देखने की कई वजहें हैं, पहली वजह यह है कि फिल्म में जान्हवी और ईशान का रोमांस काफी फ्रेश लग रहा है और दूसरी वजह है फिल्म का क्लाइमेक्स जो कि मराठी फिल्म ‘सैराट’ से अलग है इसलिए यह फिल्म जरूर देखने जाएं।
 
 
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *