रिव्यू – पूरी तरह ब्लैंक कर देगी आपको फिल्म ‘ब्लैंक’

karan 1
फिल्म – ब्लैंक 
स्टारकास्ट – करन कपाड़िया, सनी देओल, इशिता दत्ता, करणवीर शर्मा
डायरेक्टर – बेहज़ाद खंबाटा 
प्रोडूयसर – श्रीकांत भासी, निशांत पिट्टी
रेटिंग – 2.5 स्टार
 
 
पंकज पाण्डेय
आमतौर पर देखा जाता है कि इंडस्ट्री से जुड़े हुए परिवार के बच्चे रोमांटिक फिल्मों से बॉलीवुड में आगाज करते हैं लेकिन अभिनेता अक्षय कुमार के ब्रदर इन लॉ और एक्ट्रेस डिंपल कपाड़िया के भतीजे करन कपाड़िया एक्शन थ्रिलर फिल्म ब्लैंक से डेब्यू करने जा रहे हैं। उनकी यह फिल्म कल सिनेमाघरों में रिलीज होगी। चलिए जानते हैं, कैसी है फिल्म।
स्टोरी
फिल्म में दिखाया गया है कि एटीएस चीफ दीवान (सनी देओल) एक ईमानदार अफसर हैं जिनके हिसाब से जुर्म करने वाला हर इंसान गलत है, भले ही उसकी कोई भी मजबूरी हो। इसी बीच दीवान को खबर मिलती है कि शहर के एक अस्पताल में एक सुसाइड बॉम्बर मिला है जिसका नाम हनीफ (करन कपाड़िया) है और उसके सीने पर बम लगा हुआ है। अगर उसकी दिल की धड़कन रुकी तो बम फट जाएगा। अब दीवान फैसला करते हैं कि वो शहर के किसी सुनसान इलाके में जाकर सुसाइड बॉम्बर को शूट कर देंगे ताकि पूरा शहर सुरक्षित रहे लेकिन जैसे ही दीवान सुसाइड बॉम्बर हनीफ को शूट करवाने वाले होते हैं, उसी वक्त दीवान को पता चलता है कि जैसे ही हनीफ के सीने पर लगा हुआ बम फटेगा तुरंत ही शहर में अन्य 24 जगह भी ब्लास्ट होंगे क्योंकि इस बम का कनेक्शन बाकी 24 एक्टिव बमों से जुड़ा हुआ है। अब कैसे दीवान पूरे शहर को सभी 24 बमों के फटने से बचाएंगे। इस सवाल का जवाब आपको फिल्म देखने के बाद पता चलेगा।
डायरेक्शन
फिल्म को फर्स्ट टाइम डायरेक्टर बेहज़ाद खंबाटा ने डायरेक्ट किया है और फिल्म देखने के बाद इतना कह सकते हैं कि अभी बेहज़ाद को काफी मेहनत करनी होगी क्योंकि फिल्म में काफी कमियां हैं। फिल्म की स्टोरी में नयापन तो है लेकिन डायरेक्टर बेहज़ाद इसे कैश नहीं कर पाए। फिल्म का स्क्रीनप्ले कुछ खास नहीं है लेकिन सिनेमेटोग्राफी ठीक है। फिल्म का म्यूजिक औसत दर्जे का है लेकिन बैकग्राउंड म्यूजिक लाजवाब है। फिल्म के प्लस पॉइंट में हम इतना कह सकते हैं कि फिल्म आखिरी पल तक आपको बांधे रखती है।
परफॉर्मेंस
पहली फिल्म होने के नाते एक्टर करन कपाड़िया का काम सराहनीय है। वो अपने किरदार में फिट बैठते हैं। सनी देओल का काम हमेशा की तरह लाजवाब है। करणवीर शर्मा और इशिता दत्ता का काम औसत दर्जे का है। फिल्म के बाकी कलाकारों का काम निराश करता है।
क्यों देखें
वैसे तो इस फिल्म में ऐसा कुछ खास नहीं है जिसके लिए हम आपको बोलें कि यह फिल्म आप लोग देख सकते हैं। फिर भी अगर जिन लोगों को एक्शन सस्पेंस थ्रिलर फिल्में देखना पसंद है वो यह फिल्म देखने जा सकते हैं।
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *