रिव्यू – दो भाइयों की बॉन्डिंग को दर्शाती है फ़िल्म जंक्शन वाराणसी

junction varanasi review
फ़िल्म – जंक्शन वाराणसी
स्टारकास्ट – देव शर्मा, धीरज पंडित, गोविंद नामदेव, ज़रीना वहाब,
डायरेक्टर – धीरज पंडित
प्रोडूयसर – कमलेश सिंह राजपूत
रेटिंग – 3 स्टार
इस हफ्ते देव शर्मा और धीरज पंडित स्टारर फ़िल्म जंक्शन वाराणसी भी सिनेमाघरों में रिलीज हुई है। चलिये जानते हैं कैसी है फ़िल्म।
स्टोरी
फ़िल्म की कहानी उत्तरप्रदेश के पिपरी गांव में रहने वाले दो भाई अमर (देव शर्मा) और प्रेम (धीरज पंडित की है। दोनों एक-दूसरे से बहुत प्यार करते हैं। अमर और प्रेम के पिता (गोविंद नामदेव) काफी स्ट्रिक्ट हैं और मां (ज़रीना वहाब) ओवर प्रोटेक्टिव है। बचपन में एक एक्सीडेंट के चलते प्रेम की दिमागी हालत ज्यादा ठीक नहीं है जिसके चलते पूरे गांव वाले प्रेम को पागल समझते हैं लेकिन अमर और प्रेम के पिता हमेशा प्रेम को कहते हैं कि वो पागल नहीं है। कहानी में ट्विस्ट तब आता है जब प्रेम की शादी उस लड़की से तय हो जाती है जिस लड़की से अमर प्यार करता है। अब क्या अमर भाई प्रेम के लिए अपने प्यार की कुर्बानी देगा। इस सवाल का जवाब आपको फ़िल्म देखने के बाद पता चलेगा।
डायरेक्शन
फ़िल्म को डायरेक्ट धीरज पंडित ने किया है। फ़िल्म की स्टोरी अस्सी के दौर की है, जब इस तरह की फिल्में पसंद की जाती थी। फ़िल्म का स्क्रीनप्ले काफी स्लो है लेकिन सिनेमेटोग्राफी ठीक है। फ़िल्म के लंबाई भी थोड़ी कम होनी चाहिए थी।
परफॉर्मेंस
परफॉर्मेंस की बात करें तो फ़िल्म के हीरो देव शर्मा ने ठीक-ठाक काम किया है। धीरज पंडित का भी काम सराहनीय है। गोविंद नामदेव और अनुपम श्याम का अभिनय बढ़िया है। ज़रीना वहाब ने भी किरदार के हिसाब से काम किया है। फ़िल्म की एक्ट्रेस अंजली अबरोल ने भी अपना किरदार बखूबी निभाया है। 
 
 
 
क्यों देखें
वैसे तो इस फ़िल्म को देखने की ऐसी कोई खास वजह नहीं है जिसके लिए हम आपको बोलें कि आप यह फ़िल्म देखें लेकिन फिर भी अगर आप इन दिनों अस्सी के दशक की फिल्में मिस कर रहे हैं तो यह फ़िल्म आपके लिए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *