तुलसी कुमार को मिला वैष्णो देवी मंदिर में गाना गाने का मौका

परंपरागत नवरात्रि के 6 वें दिन यानी षष्ठी को भक्त देवी कात्यायनी की पूजा करते हैं, जो माँ दुर्गा के 9 अवतारों में से एक हैं। और इस अवसर पर कल यानी 18 अप्रैल को, बहुमुखी और प्रसिद्ध गायिका तुलसी कुमार ने भाविको को अपने गायन से मंत्रमुग्ध कर दिया।

अवसर के बारे में बात करते हुए, तुलसी ने कहा, ” मुझे इस फरवरी में एक फोन आया जब मैं माता रानी के दर्शन करने के लिए गई थी और एक महीने के भीतर ही मुझे नवरात्रि के इस शुभ अवसर पर माता रानी के भवन में गायन प्रदर्शन करने का अवसर मिल गया। लॉकडाउन के बीच इस कठिन परिस्थिति में मुझे खुशी है कि मैंने इस पवित्र स्थान पर एक प्रदर्शन के साथ प्रारंभ कर तहे दिलसे देवी दुर्गा के लिए गीत गाया है। इन कठिन समय के दौरान जिसका हम अभी सामना कर रहे हैं, उसमें मुझे लगता है कि त्यौहार हमें एक साथ लाते हैं, और न केवल वे आशा की भावना के रूप में सेवा करते हैं, बल्कि प्रार्थना करते समय हमें ईश्वर से आशीर्वाद लेने में भी मदद करते हैं और उम्मीद करते हैं कि चीजें अभी से बेहतर हो जाएंगी। लोगों को प्रोत्साहित कर तथा संकटकाल का सकारात्मक तरीके से सामना करने के लिए मेरा यह छोटा सा प्रयास है। और यह करने में सक्षम होना मेरे लिए एक विशेषाधिकार है। हमने सुनिश्चित किया कि सभी आवश्यक सावधानियों का पालन किया जाए और सोशल दूरी बनाए रखें।

मैं माँ वैष्णो देवी की बहुत बड़ी भक्त हूँ, देवी माँ के मंदिर में प्रदर्शन करने के साथ साल की शुरुआत करने के लिए इससे बेहतर और क्या हो सकता है।

2021 तुलसी के लिए एक पूर्ण सफल वर्ष रहा है और यह अवसर माता के आशीर्वाद को और आगे बढ़ाता है। पिछले साल रिलीज़ हुई 7 सिंगल्स के साथ कादर उनकी हालिया रिलीज़ थी जो पहले ही एक चार्टबस्टर बन चुकी है जबकि उनके गाने तन्हाई, मैं जीस दिन भुला दूं, पेहले प्यार का पहला गम, नाम, तेरे नाल इन सभी को श्रोताओं से अपार प्यार और प्रशंसा मिली है।

इस साल वैष्णो देवी के उत्सव में दलेर मेहंदी, अनुराधा पौडवाल, सुखविंदर सिंह भी तुलसी कुमार के साथ गाने के प्रदर्शन के हिस्सा थे, जिन्होंने तीर्थयात्रियों के साथ उत्सव मनाया और तुलसी ने ऐसे दिग्गजों के साथ शानदार प्रदर्शन किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *